स्नेह और आशीर्वाद के साथ

10 जुलाई 2009

कमाल का रिश्ता - मौसी छोटी और बिटिया बड़ी


ये तो हैं हम।


पहचानिये ये कौन है?
नहीं पहचाना होगा, क्योंकि आप लोग अभी तक इनसे मिले ही नहीं हैं।


अच्छा मिले तो आप इनसे भी नहीं हैं पर क्या बता सकते हैं कि ये हमारी कौन हैं?
आप नहीं पहचान सकते, ये हैं हमारी दीदी।
अब आप समझे कि ऊपर वाली फोटो किसकी है? नहीं समझे? ओ हो !!!! कोई बात नहीं। हम ही बताते हैं।

ये हैं हम और साथ में हमारी "बिटिया" चौंक गए।
जी हाँ ये सही है। ये हमारी दीदी की बेटी हैं। इस रिश्ते से ये हुई हमारी भी बेटी (भतीजी) और हम हुए इनकी मौसी।
कहिये कैसी लगी जोड़ी? मौसी छोटी और बिटिया बड़ी। हा....हा.....हा....







2 टिप्‍पणियां:

संगीता पुरी ने कहा…

नन्‍हीं मौसी .. सचमुच कमाल का रिश्‍ता है !!

रंजन ने कहा…

कमाल है... मासी..

प्यार