स्नेह और आशीर्वाद के साथ

22 जुलाई 2009

अब तो एडमीशन भी मिल गया - रामप्यारी मैम की क्लास में

आपको ये तो हम बता ही चुके हैं कि हमें पढ़ने का बहुत शौक है। हमें जब भी घर के कामों (चैका-बरतन वाले नहीं, खेलकूद वाले) से फुर्सत मिलती है वैसे ही हम अपनी किताब निकाल कर बैठ जाते हैं।
अब हमने एडमीशन ले लिया है। पता है कहाँ? रामप्यारी मैम, सारी...बड़ों का नाम नहीं लेते हैं, मैम की इंग्लिश क्लास में। इंग्लिश जरूरी है? हमें समीर अंकल ने उड़नतश्तरी से आकर बताया कि एडमीशन की लिस्ट निकल गई है और हमारा एडमीशन हो गया है।

(ये है हमारे क्लास की तस्वीर)

आपसे इसी कारण भी दो दिनों से बात नहीं हो पाई। एक तो पहला दिन और उस पर मैम ने सवाल भी पूछ लिया। डी फार....। अब तो हम सोच में पड़ गये कि क्या बताया जाये। सभी लोग तो सही-सही जवाब दे चुके थे। फिर हमने भी थोड़ा दिमाग लगाया (दादी कहती भी हैं कि हमारे पास दिमाग बहुत ज्यादा है। कई बार वे एक कहावत भी सुना देतीं हैं और कहतीं हैं कि इसके पेट में दाढ़ी है।) और सवाल का जवाब दे दिया।
मैम ने हमें शाबासी दी। अब सोचिए कि यदि हम सवाल का जवाब न दे पाते तो क्या होता? एक तो बड़ी ही छानबीन के बाद एडमीशन मिला और उस पर भी जवाब न दे पाते तो बस....।
अब इस मुश्किल से निकले कि मैम ने घर के लिए बहुत ही कठिन सवाल दे दिया। मैम ने कहा कि अब सभी लो इसकी अंग्रेजी बनायेंगे ‘‘गया गया गया।’’ हमारा तो सिर घूम गया कि क्या लिखें इसकी अंग्रेजी? देश में अब तो अंग्रेज भी नहीं बचे कि उन्हीं से पूछ लेते।
चलो कोई बात नहीं हम कुछ दिमाग लगाते हैं क्योंकि पिताजी ने तो मना कर दिया सहायता करने से। उन्होंने कहा कि पहले खुद करो जब बिलकुल नहीं आयेगा तब वे बतायेंगे। अब ऐसा तो है ही नहीं कि हमें बिलकुल ही न आये।
जब ज्यादा ही परेशान हो गये तो हमने चाचा से कहा। उन्होंने कहा कि परेशान न हो। तुम्हारी मैम बहुत अच्छी हैं, वे ही मदद करेंगीं। हमें कुछ राहत मिली और खुशी भी बहुत हुई। पता है क्यों? हमारे चाचा हमारे लिए फ्रूटी लेकर आये। बस फिर क्या था, सारी किताबें रखीं बन्द करके और खेलते-कूदते पूरी फ्रूटी पी गये। किसी को एक बूँद भी नहीं दी।

5 टिप्‍पणियां:

सुशील कुमार छौक्कर ने कहा…

बेटी को खूब सारा प्यार और आशीर्वाद।

रंजन ने कहा…

होम वर्क हो गया बेटा...?
मौज करो...

बहुत प्यार

सैयद | Syed ने कहा…

अरे वाह.... मुबारक हो आपको...

Udan Tashtari ने कहा…

वाह वाह!! अब तो बधाई. नये दोस्त बनेंगे वहाँ.

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बहुत बधाई बिटिया को रामप्यारी मैम कि क्लास मे एडमिशन के लिये. अब होमवर्क मैम करवा ही देगी. काहे चिंता करनी?:)

रामराम.