स्नेह और आशीर्वाद के साथ

06 नवंबर 2009

देख लो कितना काम करते हैं हम

हम हो गए हैं अब बड़े,
इसलिए काम भी करते हैं बड़े-बड़े।
आप ही देख लो, हम अपना बिस्तर ख़ुद ही बिछाते हैं। वैसे घर में हम बहुत से काम अपने हाथ से ही करते हैं। खाना भी अपने हाथ से खाते हैं ये बात और है कि कई बार इस चक्कर में मम्मा से डांट पड़ जाती है।

4 टिप्‍पणियां:

Mithilesh dubey ने कहा…

हमें तो आपकी हर अदा लगती है प्यारी।

संगीता पुरी ने कहा…

इतना काम मत किया करो .. थक जाओगी तुम !!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बच्चो कितने अच्छे लगते!
फूलों जितने सच्चे लगते!!

Hitesh Rathi ने कहा…

आपका ब्लॉग बहुत अच्छा हे ! मेरे ब्लॉग पर भीं आपका स्वागत हे ! मेरा ब्लॉग कंप्यूटर और इन्टरनेट रिलेटेड हे ! ब्लॉग का पता हे

http://hiteshnetandpctips.blogspot.com