स्नेह और आशीर्वाद के साथ

16 मई 2010

7 मई को थी हमारी वर्षगाँठ--- उसी की कुछ झलकियाँ..

नमस्ते,

जैसा कि आप सभी को पता ही चल गया था कि हमारी सालगिरह सात मई को थी....

उस दिन शाम को पार्टी भी दी गई थी

खूब बड़ा सा केक बनकर आया था.....कार्टून का चित्र बना था उस पर....

आप खुद देख लो....


पार्टी में हमारे साथ खेलने के लिए बच्चे भी आये थे.........बच्चे मतलब हमारे दीदी और भैया लोग...

सबने मिल कर खूब मस्ती करी .......... हमें भी बड़ा मजा आया था...



जब लगभग सभी लोग गए तो हमने केक काटा...

अब केक जिस मेज पर रखा था, हम तो उस तक पहुँच ही नहीं पा रहे थेतब हमारे बाबा ने हमें अपनी गोद में उठाकर हमसे केक कटवा दिया........

केक काटने पर सभी ने तालियाँ बजाईं और एक गीत भी गाया...


हमें ये नहीं मालूम था कि केक काटने के बाद तो हमारी शामत जायेगी.........सब लोग हमारे पास आते, हमारे टीका करते और फिर केक खिलाते............

उफ़! हमने बहुत सा केक खाया ही नहीं....

देखो चाची भी कैसे खिलाने के लिए कह रहीं हैं....पर कितना केक खाएं....


कानपुर से हमारी बुआ और फूफा भी आये थे....ये साडी में हैं ना सबसे बाएं...यही हैं हमारी बुआ...
जो हरी साडी में हैं वो हमारी दादी हैं..छोटी वालीं....


और हाँ, ग्वालियर से सबसे छोटे बाबा, दादी और सबसे छोटे चाचा भी आये थे....इलाहाबाद से नाना, नानी और मौसी आये थे......

इस फोटो में हम मम्मी की गोद में हैं और सबसे बाएं बुआ......फिर नानी...सबसे दायें छोटी मौसी....


अब पार्टी हो और खाना-पीना हो ये कैसे हो सकता है...

सबने केक भी खाया और फिर सभी ने मिल कर दावत का आनंद भी लिया...

सच में बड़ा मजा आया था हमें तो...

आपको आया कि नहीं?


अब चलें..... इस समय हम अपने नाना के पास इलाहाबाद में हैं....गर्मियों की छुट्टी में आये हैं मजा करने...

अच्छा नमस्ते....शुभ दिन...

हाँ एक बात बताएं......ये सारे फोटो हमारे सबसे छोटे चाचा ने अपने कैमरे से खींचे हैं....
============================

2 टिप्‍पणियां:

रंजन ने कहा…

वाह वाह...

प्यार...

'अदा' ने कहा…

ale waah bala maja aaya hoga..!!