स्नेह और आशीर्वाद के साथ

11 नवंबर 2011

मुंडन संस्कार में मचाई धूम

कल हमारे पड़ोस में एक कार्यक्रम था। पड़ोस वाले भैया-भाभी के पुत्र के जन्मोत्सव पर कार्यक्रम हुआ था। उस छोटे से नन्हे से बेबी का मुंडन होना था।

घर में कार्यक्रम हुआ। मुंडन संस्कार के लिए उनके घर के और भी बहुत से लोग आये थे। हम सभी लोग भी गये थे। छोटे बेबी का मुंडन संस्कार उनके यहां सबसे पहले बेबी की बुआ के द्वारा प्रारम्भ किया जाता है। उस छोटे से बेबी की बुआ भी वहां आई थीं किन्तु उस अवसर पर पता नहीं कहां निकल गये।

संस्कार के समय उनका थोड़ी देर इंतजार भी किया और कुछ देर जब उस बेबी की बुआ वहां नहीं पहुंची तो हमने उस बेबी का मुंडन संस्कार शुरू करवाया। आखिर हम भी तो उसकी बुआ होते हैं।

शाम को फिर पार्टी हुई और हम सभी ने मिलकर खूब मस्ती की।


++++++++++++++

दिनांक- १०-११-११ स्थान-उरई

1 टिप्पणी:

"रुनझुन" ने कहा…

अरे वाह! अक्षयांशी, तुम्हे बुआ बनने की ढेर सारी बधाई...!!!