स्नेह और आशीर्वाद के साथ

06 अप्रैल 2012

जूस पीकर और फल खाकर बनाई जा रही है सेहत


आजकल हम अपनी सेहत बनाने में लगे हैं। सभी लोग कहते हैं कि हम बहुत दुबले हैं। अब कितनी राटी खाई जाये? हमने तो सोच लिया है कि मुसम्मी का, संतरे का जूस पिया जायेगा, खूब सारे केले और अंगूर खाये जायेंगे। इससे ताकत भी आयेगी और तन्दरुस्ती भी बढ़ेगी।



आज हमने अपनी मम्मा से कहा तो उन्होंने संतरे का जूस निकाल कर दिया। पिताजी कहते हैं कि बाहर जूस अच्छा नहीं मिलता है, इस कारण घर में निकाल कर हमको जूस दिया जाता है।

हमारे पास हमारा एक छोटा सा गिलास है, जो हमारे बड़े चाचा लेकर आये थे। हम उसी में जूस भर-भर के कई सारे गिलास पी लेते हैं। ये देखिये, जूस हुआ खतम, अब नम्बर है केलों का, अंगूर का।



1 टिप्पणी:

"रुनझुन" ने कहा…

very good!... Eat Healthy, Drink Healthy, and always be Healthy..:)